Samandar Shayari 

के इस वेब स्टोरी में पढेंगे  प्रसिद्द शायरों की लिखी "समंदर पर शायरी" का बेहतरीन कलेक्शन. जो सभी शेर-ओ-शायरी के चाहने वालों को पसंद आएगा.

समंदर को बड़ा गुमान आया है। उधर ही ले चलो कश्ती जहां तूफान आया है।।  हिंदी शायरी

सुना है मेरे दोस्तों आज

डूब जा गालिब। बहुत ही हंसी समन्दर है खुदकुशी के लिए।।

किसी की मस्त निगाहों में 

होगा समंदर-ऐ-इश्क़। हम तो रोज़ तेरे साहिल से प्यासे गुज़र जाते हैं।।

तू किसी और के लिए 

हमेशा फासला रखना जहाँ दरिया समंदर में मिला दरिया नहीं रहता।।

बड़े लोगो से मिलने में 

हर तपिश में जलते आये हैं। धूप कितनी भी तेज़ हो समंदर सुखा नहीं करते।।

बस यही सोच कर 

मुझको भी हुनर आता है, मैं वह कतरा हूं समंदर मेरे घर आता है।।

खुद को मनवाने का 

वो मंज़र भी आएगा। प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा।।

रख हौंसला के 

खुद को तेरे इश्क़ के समंदर में। अब तेरी मर्ज़ी हाथ थाम या डुबो दे मुझको।।

बहता छोड़ दिया है 

Samandar Shayari

से जुडी और ढेरों शायरी पढ़ने के लिए एक बार जरुर यह आर्टिकल देखे.